मुस्लिम एयरहोस्टेस लड़की से इश्क़ मशहूर गजल गायक:Pankaj Udhas passes away

Social Share

Pankaj Udhas passes away:चिट्ठी आयी है चिठ्ठी आयी है बड़े दिनों के बाद चिट्ठी आयी है ये गाना जिस किसी ने भी सुना था सबकी आँखों में आज भी आंसू आजाते है इस गजल को गाने वाले Pankaj Udhas की आवाज़ अब हमेशा के लिए बंद हो गयी है पंकज उदास का आज २६.०२.2024 को देहांत हो गया है मात्र ७२ साल की उम्र में ही इनका निधन हो गया Pankaj Udhas एक लम्बी बीमारी से जूझ रहे थे।

Pankaj Udhas के करीबियों के अनुसार Pankaj Udhas को कैंसर हो गया था और वो इस बीमारी की वजह से लोगो से मिल जुल नहीं रहे थे मीडिया से दूर ही थे कल यानि 27 फ़रवरी को Pankaj Udhas का अंतिम संस्कार कर दिया जायेगा उनके घर मुंबई में ही।

क्या पोस्ट किया गया Pankaj Udhas की बेटी की तरफ से

Pankaj Udhas को साल 2006 में पदम श्री अवार्ड से नवाज़ा गया था Pankaj Udhas की दो बेटिया है नायाब और रीवा नायाब का खुद का एक म्यूज़िक बैंड है और वो भी अपने पिता की तरह ही म्यूज़िक की शौक़ीन है और गाना भी गाती है Pankaj Udhas की छोटी बिटिया रीवा भी अपने पिता की तरह ही म्यूज़िक से जुडी हुई है

२६ फरवरी को इनकी बेटी की नायाब की तरफ से शोशल मीडिया अकाउंट पर एक पोस्ट को डाला गया जसिमे बताया गया के उनके पिता अब इस दुनिया में नहीं रहे अगर आप गजल नहीं सुनते है तो आप को Pankaj Udhas की अहमियत का अंदाजा नहीं हो सकता वही अगर आप गजल सुनने के शौक़ीन है तो Pankaj Udhas आप के लिए बहुत मायने रखते होंगे।

Pankaj Udhas passes away

__Pankaj Udhas passes away

Pankaj Udhas के सभी गाने सुपर हिट रहे

Pankaj Udhas ने बॉलीवुड में बहुत से गाने दिए जिस गाने को उन्होंने गाया वो गाना सुपर हिट साबित हुए जैसे के साजन फिल्म के बहुत प्यार करते है तुमसे सनम ,मोहरा फिल्म का न कजरे की धार ,जिए तो जिए कैसे ,मत कर इतना गुरुर ,आदमी खिलौना है जैसे क्यी गाने जो आज भी आपकी जुबा पर आते है।

Pankaj Udhas कहा के रहने वाले है

Pankaj Udhas का जन्म हुआ था गुजरात के एक गांव में जिसका नाम जेतपुर था फिर इनकी फैमिली मुंबई में शिफ्ट हो गयी थी जहा पर रह कर इन्होने अपनी बाक़ी की पढ़ाई पूरी की बहुत से लोग ये समझते है के Pankaj Udhas का नाम पंकज उदास है पर वो उदास नहीं उधास है। Pankaj Udhas को मिलाकर ये तीन भाई थे Pankaj Udhas इनमे से सबसे छोटे है इनके दादा जी भाव नगर के दीवान थे और एक बड़े जमींदार भी थे Pankaj Udhas की माँ गायकी की तरफ थी वही से Pankaj Udhas को इंस्प्रेशन आयी गायकी में और उन्होंने गायक बनने की सोची।

लता मंगेशकर से इंस्पायर हो कर गायकी की शुरुवात की

लता मंगेशकर ने एक गाना गाया था ए मेरे वतन के लोगो इस गाने से Pankaj Udhas इतने प्रभावित हुए के उन्होंने ठान लिया के उनको सिंगर बनना है


Pankaj Udhas ने अपने स्कूल के टाइम से ही गाना शुरू कर दिया स्कूल में वो असेम्ब्ली के हेड बना दिए गए थे और वही पर इन्होने गाना शुरू कर दिया था


Pankaj Udhas ने भजन गाना शुरू किया जिसे लोग सुनने लगे इन्होने ए मेरे वतन के लोगो गाना शुरू किया तो लोगो को इस गाने में इनकी आवाज़ का जादू पता चला और लोग इन्हे पसंद करने लगे ए मेरे वतन के लोगो से ही Pankaj Udhas को अपनी ज़िंदगी की पहली कमाई 51 रूपये मिले जिसको पा कर वो बहुत खुश हुए।

Pankaj Udhas के दो भाई है मनहर और निर्मल उधास जो की दोनों ही गजल गायक है और काफी फेमस भी है Pankaj Udhas के पिता ने इनका एडमिशन राजकोट के एक म्यूज़िक संसथान में कर दिया था इन्होने बॉलीवुड में बहुत संघर्ष किया पर फेमस न होसके लगभग ६ साल तक स्ट्रगल करने के बाद Pankaj Udhas विदेश चले गए कनाडा और Pankaj Udhas कनाडा में ही रहने लगे।

चिट्ठी आयी सांग

इस गाने ने Pankaj Udhas को इतनी पॉपुलर्टी दी के आज भी लोग के सामने ये गाना सुनते ही पंकज उधास की शकल सामने आजाती है ऐसा कहा जाता है के एक दिन राजकपूर Pankaj Udhas को डिनर पर बुलाते है और Pankaj Udhas गाना गाते है चिट्ठी आयी है इस गाने को सुनकर राजकपूर बहुत रोये राजकपूर ने कहा के इससे अच्छा गाना कोई भी नहीं गा सकता चिट्ठी आयी है के एक एक लाइन बहुत बढ़िया तरह से लिखी गयी है इस गाने को आनंद बक्शी साहब ने लिखा था।

अनसुने किस्से Pankaj Udhas के

एक बार Pankaj Udhas को कही पर गाना गाना था Pankaj Udhas उधास ने गाना गाना शुरू किया वही पर बैठे एक आदमी ने बड़े ही खराब लहज़े से Pankaj Udhas से फरमाइश करि Pankaj Udhas ने मना कर दिया उस आदमी ने गन निकाल कर Pankaj Udhas के कनपटी पर रख दिया और कहा के गाओ वरना ठोक देंगे फिर Pankaj Udhas ने गाना गाया।

Pankaj Udhas ने मुस्लिम लड़की से शादी की

फरीदा से Pankaj Udhas को इश्क़ हुआ जो की इनके पड़ोस में रहती है पंकज ने इनसे शादी कर ली फरीदा एक एयरहोस्टेस थी फरीदा के घर वाले इस शादी से राजी नहीं थे फरीदा के पिता पुलिस में थे जो की नहीं चाहते थे के उनकी लड़की इंटरकास्ट शादी करे जैसे तैसे कर के दोनों की शादी हो गयी।

Pankaj Udhas passes away

READ MORE

Shaitaan 2024 ending Explained:क्या सच में काला जादू आदमी को शैतान बना सकता है

Author

    by
  • Arshi khan

    दोस्तों मेरा नाम अर्शी खान और मै एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हूँ मै २१ वर्ष की आयु से मनोरजन से सम्बंधित सामग्री विभिन्न कार्य स्थलों को प्रदान कर चुकी हूँ मैंने भारत के कुछ बड़े मीडिया संस्थानों के साथ काम किया है जिनमे से एक है अमर उजाला मुझे फिल्मे देखना बहुत पसंद है और बॉलीवुड के विभिन्न प्रकार के मुद्दे पर चर्चा करना भी। अभी मै अपनी सभी सेवाये talecup.com को दे रही हूँ मै आशा करती हूँ के मेरे द्वारा लिखे गए कॉन्टेंट आप लोगो को पसंद आये धन्यवाद

Leave a Comment