अगर आपकी बेटी है तो ये फिल्म आपके लिए है:Kaagaz 2 Full Movie Review

Social Share

Kaagaz 2 Full Movie Review:इस हफ्ते हमें बहुत सी फिल्मे आती हुई दिखने वाली है आज हम अपने इस आर्टिकल में रिव्यु करने वाले है कागज २ का ये फिल्म कागज़ का है सीक्वल है पर दोनों की कहानी एक दूसरे से जुडी हुई नहीं है दोनों के किरदार भी डिफरेंट-डिफरेंट है एक जैसे नहीं है। तब कोई जुरूरी नहीं है के आप इसका पहला पार्ट देखे अगर आपने इसका पहला पार्ट नहीं भी देखा तो कोई बात नहीं आप इसका दूसरा पार्ट देख सकते है। अगर अपने इसका पहला पार्ट नहीं देखा है तो आप वो भी देख सकते है क्यों के उस पार्ट की कहानी बहुत अच्छी है और एंटेरटेनिंग भी है।

Kaagaz 2 Full Movie Review

कहानी

शुशील की ज़िंदगी में उस टाइम बदलाव आता है जब इनकी बेटी का एक्सीडेंट हो जाता है और उसके दिमाग में तेज चोट लग जाती है शुशील की लड़की को जल्दी ही हॉस्पिटल में ले जाना होता है पर रास्ते में जोरदार प्रोटेस्ट चलने के कारण वो अपनी लड़की को हॉस्पिटल तक नहीं ले जापाता है और उसकी लड़की रस्ते में ही दम तोड़ देती है। तब आगे शुशील को अपने राइट्स के लिए लड़ते हुए दिखाया गया है आगे फिल्म में क्या होने वाला है इसके लिए आपको फिल्म देखनी होगी। कागज २ फिल्म की लेंथ की बात करे तो ये दो घंटा पांच मिनट है।

क्या सिखाती है कागज २

जिस तरह से कागज-१ फिल्म जब खतम होती है तब हमारे दिमाग पर अलग छाप छोड़ कर जाती है उसी तरह कागज-२ जब खतम होगी तो आपको सोचने पर मज़बूर कर देगी के जो ये प्रोटेस्ट चलते है इनकी वजह से क्या-क्या प्रॉब्लम फेस करना पड़ती है किस तरह से गाड़िया और बस ट्रक निकलने में प्रॉब्लम होती है अगर एम्बुलेंस है तो उसको निकलने में टाइम लग जाता है रस्ते को जाम कर दिया जाता है और इस वजह से बहुत से लोगो को बहुत कुछ खोना भी पड़ता है।
फिल्म के डायरेक्टर का इसी बात पर पूरी तरह से फोकस किया गया था और फोकस भी स्ट्रेट फारवर्ड किया गया है। फिल्म के डायरेक्टर V. K. Prakash जिन्होंने बहुत बढ़िया तरीके से इस फिल्म में काम किया है।

Kaagaz 2 Full Movie Review

Kaagaz 2 Full Movie Review

सतीश कौशिक की आखरी फिल्म

सतीश कौशिक की कागज़ २ लास्ट फिल्म है तो इसलिए भी सतीश कौशिक के फैन के लिए ये एक यादगार फिल्म होने वाली है सतीश कौशिक की फिल्म में इंट्री थोड़ी देर से होती है पर बिना कुछ बोले उनका किरदार अपने पहले ही सीन में बहुत प्रभाव छोड़ता दिखाई देता है। फिल्म के पहले हिस्से को बहुत बढ़िया तरीके से बिल्डअप किया गया है। एक्सीडेंट हॉस्पिटल तक पहुंचने की जद्दो जहद बहुत इमोशन के साथ सीन को शूट किया गया है आप की आंखे परदे पर ठहर सी जाती है ये देखने के लिए के आखिर अब आगे क्या होने वाला है।

फिल्म के दूसरे हिस्से में हमें कोर्ट ड्रामा देखने को मिलता है जिसको बहुत ही बढ़िया तरह से पर्जेट किया गया है फिल्म के पहले हिस्से में सतीश कौशिक जो अपनी बेटी को हॉस्पिटल ले जाने के लिये परेशानिया झेल रहे होते है पुलिस वालो के पॉलिटिशियन के सतीश कौशिक जिस तरह से हाथ पैर को जोड़ते है वो सीन देख कर आपकी आँखों से आंसू आजयेगे सतीश कौशिक ने इतनी अच्छी एक्टिंग की है के ये सीन देख कर आपको लगेगा के काश सतीश कौशिक वापस आजाये और ऐसी ही फिल्मे हमें और दें। फिल्म का प्लस पॉइंट इस फिल्म का इमोशन है सतीश कौशिक ने उस इमोशन में जान फूक दी है। फिल्म के दूसरे हिस्से में भी कुछ इस तरह के इमोशन सीन को दर्शाया गया है जो पूरी तरह से आपको अंदर तक झंझोड़ कर रख देते है पत्थर दिल को भी मोम की तरह पिघला कर रख देते है।

Kaagaz 2 Full Movie Review

Kaagaz 2 Full Movie Review

एक्टर परफॉर्मेन्स

बात करे अगर कागज़ २ के एक्टरों की परफॉर्मेंस के बारे की तो सतीश कौशिक ने बेमिसाल एक्टिंग करी है। सतीश कौशिक ने अपने करियर का सबसे अच्छा काम किया है तो कागज़ २ में किया है। आप इनकी एक्टिंग को देख कर मंत्रमुग्द होने वाले है। सतीश कौशिक की बेटी के साथ उनका जो रिश्ता है वो बहुत ही भावत्मक दिखाया गया है अगर आपकी शादी हो गयी है और आपकी भी एक लड़की है तो ये फिल्म देख कर आप डेफिनेटली रोने वाले है।

सतीश कौशिक का फिल्म में एक बेटा भी दिखाया गया है पर बेटे से रिश्ते कुछ ख़ास नहीं होते है पर फिर बेटा सतीश कौशिक के साथ आता है और ये दोनों मिलकर इस जंग को लड़ते है।

क्लाइमेक्स में सतीश कौशिक का एक मोनोलोग है और इस मोनोलोग को देखर आप अपनी सीट से उठ कर तालिया बजायेगे फिल्म में अनुपम खेर ने एक वकील की भूमिका निभाई है और वो अपनी भूमिका में एक दम सही उतरे है। फिल्म में दिखाया गया है के किस तरह से आंदोलन कारियो नेताओ की वजह से
एक आम आदमी को परेशानी उठानी पड़ती है। सलमान खान की एक फिल्म आयी थी जय हो उस फिल्म में भी कुछ इस तरह के मुद्दे को उठाया गया था।

Kaagaz 2 Full Movie Review

Kaagaz 2 Full Movie Review

फिल्म में काफी अच्छे तरह से आम आदमी के फंडामेंटल राइट्स की बात कही गयी है फिल्म का BGM कोई खास नहीं है बस नार्मल सा ही है फिल्म का बजट ज्यादा नहीं है वो आपको फिल्म देख कर ही पता चल जायेगा फिल्म के एक्शन की बात की जाये तो वो भी कुछ खास नहीं है बेमतलब के एक्शन सीन दिखाए गए है।

आपको एक बात समझ नहीं आने वाली है बस के इस फिल्म का नाम कागज़ २ क्यों रक्खा गया है। इस तरह की फिल्म को हमें स्पोर्ट करना चाहिए और हम सब को ये फिल्म देखना चाहिए

Kaagaz 2 Full Movie Review

READ MORE

Rohit Shetty Golmaal 5 :श्रेयस तलपड़े ने दिया बड़ा बयान

Author

    by
  • Arshi khan

    दोस्तों मेरा नाम अर्शी खान और मै एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हूँ मै २१ वर्ष की आयु से मनोरजन से सम्बंधित सामग्री विभिन्न कार्य स्थलों को प्रदान कर चुकी हूँ मैंने भारत के कुछ बड़े मीडिया संस्थानों के साथ काम किया है जिनमे से एक है अमर उजाला मुझे फिल्मे देखना बहुत पसंद है और बॉलीवुड के विभिन्न प्रकार के मुद्दे पर चर्चा करना भी। अभी मै अपनी सभी सेवाये talecup.com को दे रही हूँ मै आशा करती हूँ के मेरे द्वारा लिखे गए कॉन्टेंट आप लोगो को पसंद आये धन्यवाद

Leave a Comment