Poacher Hindi Dubb Series Review: अमेज़न प्राइम पर घर बैठे जंगल सफारी

Social Share

Poacher Hindi Dubb Series Review:केरल के एक छोटे से गांव की कहानी जहां होता है करोड़ों का अवैध कारोबार दोस्तों हम सबके बीच पोचर सीरीज रिलीज हो चुकी है और इस सीरीज की कहानी केरला के एक छोटे से गांव से शुरू होती हुई दिखाई गई है ।

जैसा कि फिल्म का नाम है पोचर, तो सीरीज की कहानी भी पोचर पर आधारित है दरअसल पोचर वो होते हैं जो अवैध रूप से जंगली जानवरों का शिकार करते हैं करोड़ों का कारोबार करने के लिए। केरल के जंगलों की सच्ची घटना पर आधारित है पोचर सीरीज की कहानी।

इस सीरीज में विशेष रूप से हाथियों के दांत की तस्करी के लिए हाथियों का शिकार करते हुए दिखाया गया है। इस सीरीज का मेन मकसद लोगों को जागरूक करना है कि किस प्रकार उनके जंगलो के खजाने रूपी जानवरो की जाने ली जा रही है करोड़ो का कारोबार करने के लिए और किस प्रकार इस गैर कानूनी काम को हम सब मिलकर रोक सकते इन्ही तथ्यों पर आधारित है पूरी कहानी।

Poacher Hindi Dubb Series,kerala मे हो रहे हाथी के दांतो की तस्करी पर बनी फिल्म है-

Poacher Hindi Dubb Series Review

__Poacher Hindi Dubb Series Review

क्या वहां के पुलिस कर्मी इस अवैध काम को रोक पाएंगे ये जानने के लिए आपको पोचर फिल्म ज़रूर देखनी चाहिए। इस सीरीज के डायरेक्टर है Richie Mehta जिन्होंने 2019 मे Delhi Crime जैसी सीरीज बनाई है और लोगों ने इनके काम को खूब पसंद किया है अब बारी है kerala के जंगलो मे हो रहे अवैध कामों को रोकने की।फर्क सिर्फ इतना है कि देल्ही क्राइम कि स्टोरी पूरी हुई थी 12 एपिसोड मे और केरल मे हो रहे हाथियों के अवैध शिकार को रोकने के लिए रिची मेहता लेकर आये है 8 एपिसोड।


इस सीरीज की कहानी साल 2015 से शुरू होती है और केरला के एक गाँव मे एक आदमी जिसने अपनी आँखों से 18 हाथियों का वध होते हुए देखा है हताश होकर DFO ऑफिस जाता है इस बात कि शिकायत के लिए। इस कार्यालय मे सभी लोग हो रहे इस क्राइम से पूरी तरह से अनजान है और बिलकुल बेफिक्र है कि ऐसा तो 20 साल पहले हुआ था तबसे ऐसा कोई भी अवैध काम केरल के जंगल मे नहीं हो रहा है। उन अधिकारियो के लिए ये पूरी तरह से चौकाने वाली बात है।

Poacher Hindi Dubb Film के द्वारा केरला के जंगल मे हो रहे मंगल को 8 एपिसोड मे दिखाया गया है –

Poacher Hindi Dubb Series Review

__Poacher Hindi Dubb Series Review

इस सीरीज के 8 एपिसोड लाये गए है जो 40-45 मिनट का एक एपिसोड है और बहुत जल्द इसका सीजन 2 भी देखने को मिलेगा।लेकिन जिस तरह देल्ही क्राइम की स्टोरी धीरे धीरे आगे बढ़ती है ठीक उसी प्रकार इस पोचर की कहानी भी धीरे धीरे आगे बढ़ती है जो भी कलाकार है सबकी अलग अलग अपनी कहानी चलती हुई दिखाई गई है

विलेन पुलिस हीरो सबकी अपनी अपनी कहानी चलती है और धीरे धीरे सारे राज खुलते है।जिन लोगों को साफ सुथरी सीधी बात पसंद है उनके लिए ये स्टोरी बिलकुल भी नहीं है जो लोग इमोशनल ड्रामा पसंद करते है और कुछ रियलिस्टिक चीज़े जानना चाहते है तो उन्हें ये ज़रूर देखनी चाहिए।शुरू के दो तीन एपिसोड तो आपको थोड़े से बोरिंग लग सकते है लेकिन उसके बाद क्लिमैक्स से आपका इंट्रेस्ट जब बढ़ना शुरू होगा तो खत्म होने वाला नहीं है।


एक ज़रूरी टॉपिक है देश कि सम्पदा को बचाने के लिए जंगलो और जानवरो को सेव करने के लिए एक जागरूक करने वाली कहानी है रिची मेहता की वन ऑफ़ द बेस्ट सीरीज कह सकते है क्यूंकि लोगों को जागरूक करना बहुत ज़रूरी है और रिची जिस ने वहीं ज़रूरी काम किया है।

Poacher hindi dubb series मे एक वन पुलिस कर्मी mala के पिता ही होते है हाथी के तस्कर –

Poacher Hindi Dubb Series Review

__Poacher Hindi Dubb Series Review

इस सीरीज मे एक्टिंग, सिनेमाटोग्राफी से लेकर डायलॉग तक सब मस्त है रोशन माथेव , निमीषा सजायन,कानी कुश्रुति इस poacher के मेन करैक्टर है जिन्होंने काफी अच्छी एक्टिंग की है। इस कहानी मे Mala जो वन पुलिस ऑफिसर का रोल निभा रही है उसी के पिता केरला मे हो रहे हाथियों के कत्ल और उनके दांतो की तस्करी के लिए जिम्मेदार होते है। आप ये भी कह सकते है कि इस कहानी मे विलेन कि बेटी ही इन्वेस्टीगेटर होने वाली है।

एक ज़बरदस्ती कहानी है आपको ज़रूर देखनी चाहिए। हिंदी डब है तो अगर आप िसर हिंदी मे देखना चाहेंगे तो आपको ये फील होगा कि ये डब है पर हा डायलॉग नहीं बदले गए है। म्यूजिक काफी अच्छा है फारेस्ट और जानवरो के सीन्स को बहुत खूबसूरती से दिखाया गया है। नेचर लवर है आप अगर तो ये स्टोरी आपके लिए है और हाथियों को मरते हुए देखकर आपके हार्ट ब्रेक होने वाले है आपके आंसू रुक नहीं पाएंगे इस इमोशनल कहानी को देख कर।

Poacher Hindi Dubb Series Review

READ MORE

फिल्म देख कर आप कह सकते है वह मोदी जी वाह,Article 370 Movie Review hindi

Author

    by
  • Arshi khan

    दोस्तों मेरा नाम अर्शी खान और मै एक प्रोफेशनल ब्लॉगर हूँ मै २१ वर्ष की आयु से मनोरजन से सम्बंधित सामग्री विभिन्न कार्य स्थलों को प्रदान कर चुकी हूँ मैंने भारत के कुछ बड़े मीडिया संस्थानों के साथ काम किया है जिनमे से एक है अमर उजाला मुझे फिल्मे देखना बहुत पसंद है और बॉलीवुड के विभिन्न प्रकार के मुद्दे पर चर्चा करना भी। अभी मै अपनी सभी सेवाये talecup.com को दे रही हूँ मै आशा करती हूँ के मेरे द्वारा लिखे गए कॉन्टेंट आप लोगो को पसंद आये धन्यवाद

Leave a Comment