WHAT IS RAJU HIRANI FILM MAKING :क्या राजकुमार हिरानी के पास है अलादीन का चिराग

Social Share

WHAT IS RAJU HIRANI FILM MAKING :राजकुमार हिरानी ने अपनी पहली फिल्म मुन्ना भाई MBBS बनायीं थी और तब से अब तक राजू हमें एक से बड़कर एक फिल्म देते रहे है क्या आप जानते है के राजू हिरानी एक एडिटर है राजू बनने गए थे डायरेक्टर पर बन गए थे एडिटर क्यों के जिस इंस्टीट्यटू से वो डायरेक्शन पढ़ना चाहते थे उस में डारेक्शन की सिर्फ ८ सीट्स ही थी और ८००० लोग अप्लाई करते थे

तब उन्हें उस कैम्पस में घुसने के लिए एडिटिंग में एडमिशन लेना पड़ा पढ़ाई पूरी करने के बाद राजू ने फिल्म लिखना शुरू कर दी इसके साथ साथ वो फिल्म डायरेक्शन में भी आना चाहते थे राजू हिरानी राइटिंग भी करते है एडिटिंग भी करते है और डायरेक्शन भी करते है तभी उनकी फिल्मो का सक्सेस रेट १०० % होता है।

WHAT IS RAJU HIRANI FILM MAKING

राजू हिरानी के पास पहला “एडिटिंग” का चिराग है

राजू हिरानी को एडिटिंग करना बहुत पसंद है वो कहते है के एडिटिंग में उन्हें भीड़ भाड़ में नहीं रहना होता है एक कमरा होता है और अकेले आराम से उस कमरे को बंद कर के काम करते रहो बस खाना खाने के लिए बहार निकलो जिससे मेरा पूरी तरह से एडिटिंग पर फोकस रहता है

राजू को एडिटिंग करना बहुत पसंद है जभी उनकी फिल्मो की एडिटिंग इतनी अच्छी होती है राजू हिरानी फिल्म एडिटिंग को बहुत अहम हिस्सा मानते है और कहते है के फिल्म एडिटर को हमारी इंडस्ट्री में उतना महत्त्व नहीं दिया जाता जितना उसका एक फिल्म को बनाने में हिस्सा होता है एडिटर ही फिल्म का दूसरा राइटर होता है।

2 13

__WHAT IS RAJU HIRANI FILM MAKING

राजू हिरानी का दूसरा “रइटिंग” का चिराग

फिल्म की रइटिंग करना कोई आसान काम नहीं है इसमें बहुत मेहनत लगती है और राजू हरनी के लिए स्क्रिप्ट की इम्पोर्टेंस बहुत ज़ादा है वो फिल्म की स्क्रिप्ट को ही फिल्म की जाना समझते है एक इंटरविव में अभिजीत जिन्होंने राजू की सभी फिल्मे लिखी है वो बताते है के एक बार मुंबई में भूकम आया सभी लोग बिल्डिंग से नीचे आरहे थे पर राजू ऊपर की तरफ अपना लैपटॉप लेने भाग रहे थे क्यों के लैपटॉप में उनके द्वारा लिखी गयी स्क्रिप्ट थी आप इससे अंदाज़ा लगा लीजिये के वो स्क्रिप्ट को कितना महत्त्व देते है


राजू हिरानी के लिए स्क्रिप्स की वैलु अपनी जान से ज्यादा है। राजू हिरानी की फिल्म चाहे मासेस हो या क्लासेस सभी को पसंद आती है पर क्या आप जानते है राजू किसी के लिए फिल्म नहीं बनाते वो फिल्म को बनाते है सिर्फ अपने लिए उनका ये मनना है के अगर मुझे फिल्म अछ्सीअच्छी लगेगी अगर मै फिल्म देख कर हंसू गा अगर मै फिल्म देख कर रो दूँ गा तब मै इस बात को समझ जाता हूँ के ये फिल्म दर्शको को भी पसंद आने वाली है।

वो हर स्टेट को ध्यान में रख कर ही डॉयलॉग लिखते है उनको पता होता है के इस सीन में बिहार के लोगो को मज़ा आने वाला है और अगले सीन में उत्तर प्रदेश के लोगो को अच्छा लगेगा ऐसा नहीं है वो हर सीन के डॉयलॉग पर्टिकुलर स्टेट के लोगो को ध्यान में रख कर लिखते है।

राजू हिरानी के पास “अभिजात जोशी” जो की तीसरा चिराग है

जिस तरह मुन्ना भाई के पास सर्किट था जिस तरह से संजू के पास कमली था उसी प्रकार से राजकुमार हिरानी के पास है अभिजात जोशी


अभिजात जोशी ने राजू की सभी फिल्मो पर काम किया है सबसे पहले जानते है के कौन है अभिजात जोशी ये गुजरात के अहमदाबाद के रहने वाले है और पेशे से ये एक इंग्लिश के प्रोफ़ेसर है अभिजात ने करीब ,मिशन कश्मीर ,लगे रहो मुन्ना भाई ,३ इडियट ,PK ,संजू जैसी फिल्मे लिखी है अभिजात को सवतंत्र रहना बहुत पसंद है वो अपने काम में दखल अंदाज़ी बिलकुल पसंद नहीं करते है

राजू अभिजात को भाई के सामान ही मानते है अभिजात OTTERBEIN यूनिवर्सिटी अमेरिका में फिल्म मेकिंग पढ़ाते है राजू हिरानी को अभिजात लगे रहो मुन्ना भाई के टाइम पर मिले और अभिजात ने कहा के मुझे इस फिल्म पर काम करना है राजकुमार हिरानी ने सोचा के ये तो अमेरिका में रहता है

कैसे काम करेगा पर अभिजात ने कहा मै कर लूंगा उस दिन से आज का दिन है दोनों एक दूसरे के साथ काम कर रहे है और सभी सिनेमा प्रेमियों को अच्छी फिल्मे देते आ रहे है लगे रहो मुन्ना भाई के टाइम पर राजू ने अभिजात को अमेरिका से से १० दिन की छुट्टी पर बुला लिया और एयरपोर्ट से सीधा मड आयलैंड लेकर चले गए उन १० दिनों में दोनों ने बहुत काम किया लगे रहो मुन्ना भाई पर और रिज़ल्ट आपके सामने है कितनी अच्छी फिल्म बनकर तैयार हुई थी।

क्या है राजू हिरानी का गोल्डन रूल LCD

राजू हिरानी और अभिजात जोशी के पास है एक गोल्डन रोल एलसीडी क्या होता है एलसीडी आइये जानते है
L -लाफ
C -क्राइंग
D -ड्रामा

राजू और अभिजीत का कहना है के इनके बिना फिल्म पूरी हो ही नहीं सकती है ये हर सीन को बहुत अच्छे से पेश करने की कोशिश करते है जो हमने ३ इडियट के पहले ही सीन में देखा है जब माधवन के पास काल आती है और माधवन को हार्ट अटैक का नाटक करना होता है दर्शको को समझ नहीं आता है दर्शको के मन में एक करियोसिटी बानी रहती है के आखिर क्या है कौन है रेंचो उनकी फिल्मो में ड्रामे को असल ज़िंदगी से रिलेट करते हुए दिखाया जाता है जिससे फिल्म दर्शको पर अपनी पूरी पकड़ को बना लेती है।

WHAT IS RAJU HIRANI FILM MAKING

__WHAT IS RAJU HIRANI FILM MAKING

राजू अपनी फिल्मो में इस्तेमाल करते है EPL टेक्नीक का

E-ऐथोस
ऐथोस एक ग्रीक वार्ड है इसमें दर्शको को ये बताया जाता है के जो आप प्रोडक्ट खरीद रहे है या देख रहे है ये बहुत ही भरोसे मंद लोग है इसमें बड़े बड़े स्टार को चाहे वो AD हो या फिल्म में लिया जाता है जिससे उस प्रोडक्ट की डिमांड बढ़ती है वही राजू अपनी फिल्मो में करते है संजय दत्त आमिर खान रणबीर कपूर शाहरुख़ खान को फिल्म में हीरो लेकर जिससे दर्शको में एक ट्रस्ट पैदा होता है के फिल्म में कुछ बात तो होगी अगर ये कलाकार इस फिल्म में काम कर रहे है।

P- पैथोस
पैथोस का मतलब होता है इमोशन राजू हिरानी की हर फिल्म में आपको इमोशन कूट कूट कर देखने को मिलता है वो इमोशन को पकड़ कर लोगो के दिलो में फिल्म के प्रति अपनी पकड़ को मज़बूत करते है

L – लोगोस
लोगोस का मतलब होता है लॉजिक मतलब हरजगह उनकी फिल्मो में लॉजिक का बखूबी इस्तेमाल किया जाता है फिर क्यों न वो चतुर की स्पीच हो या डिलीवरी सीन वो बिना लॉजिक के कोई भी सीन फिल्म में नहीं डालते है

READ MORE

करोड़ की मर्सिडीज़ मोबेक के मालिक बन गए हैं शाहिद कपूर और मीरा राजपूत

Author

    by
  • Taxak

    हैलो दोस्तों,मेरा नाम तक्षक है मै एक प्रोफेशनल बॉलीवुड न्यूज़ ब्लॉगर हूँ मैंने अपनी कार्यशैली को बॉलीवुड के लिए ही समर्पित कर दी है मुझे बॉलीवुड से बहुत प्रेम है मुझे फिल्मे देखना काफी अच्छा लगता है और मै अधिकतर यही कोशिश करता हूँ के फिल्मो को फस्ट डे फ़स्ट शो ही देखूँ मुझे बॉलीवुड से सम्बंधित खबर अपने पाठको तक पहुंचना बहुत पसंद है मेरा यही प्रयास रहता है के सबसे पहले बॉलीवुड की कोई भी छोटी से छोटी खबर हो आप तक पहुँचाना धन्यवाद

Leave a Comment