Is Devdas A Real Story,क्या देवदास एक सच्ची कहानी है

Social Share

Is Devdas A Real Story:संजय लीला भंसाली की एक अमर प्रेम कथा जिसे आप जब भी देखेंगे तो वो आपको अपनी वास्तविकता पर विश्वास करने को मजबूर कर देगी। हम बात कर रहे है Devdas फिल्म की जिसमें शाहरुख़ खान, ऐश्वर्या राय बच्चन, माधुरी दीक्षित और जैकी श्रॉफ मुख्य भूमिका मे है इनके अलावा और भी कई मुख्य किरदार है जो कहानी को अमर बनाने मे मदद करते है।

इस कहानी को लेकर लोगो मे ये भ्र्म अक्सर देखा गया है की लोग इसे असल जिंदगी मे घटी हुई असली घटना मान लेते है। हम कह सकते है की ये 1917 मे प्रकाशित हुई शरत चंद्र चाटोपाध्याय द्वारा लिखित उपन्यास मे डाला गया जादू है की इसके पात्र बिलकुल सच्चे महसूस होते है।जब चटोपाध्याय जी ने ये उपन्यास लिखा तो मात्र 17 साल के थे उपाध्याय जी।

1-Is Devdas A Real Story हातिपोटा नामक एक गाँव की सच्ची प्रेम कहानी पर आधारित है –

Devdas एक बंगाली सच्ची प्रेम कहानी पर आधारित फिल्म है,जिस उपन्यास को 30 जून 1917 को प्रकाशित किया गया था जो शरत चंद्र चटोपाध्याय ने हातिपोटा नामक गाँव की सच्ची प्रेमकथा से प्रेरित होकर लिखा था।चटोपाध्याय ने अपने उपन्यास के सभी पात्रों को इस तरह प्रस्तुत किया है की बिलकुल जीवित करैक्टर प्रतीत होते है।

Is Devdas A Real Story

__Is Devdas A Real Story

2- Devdas उपन्यास को लिखने से पहले पार्वती के गाँव का दौरा किया था चटोपाध्याय जी ने –

Devdas के करैक्टर ने सजीवता डालने के लिए इस उपन्यास को लिखने से पहले चटोपाध्याय जी ने हातिपोटा नामक गाँव मे जाकर असली कहानी का पता लगाया था यही करण है की उपन्यास के पात्र बिलकुल असली नज़र आते है। इस तथ्य को लेकर लोगो मे अलग अलग मत है लोगो का ये मानना है की devdas असली घटना पर आधारित उपन्यास है जिसके ऊपर इंडस्ट्री मे फिल्म के 4 संस्करण बं चुके है।

Is Devdas A Real Story

__Is Devdas A Real Story

3- 1901 मे लिखी गई Devdas 1917 मे की गई प्रकाशित –

Devdas जो की एक बंगाली उपन्यास है जिसे बंगाल के रहने वाले उपन्यास्कार शरत चंद्र चटोपाध्याय जी ने 1901मे लिखा था और अगर इस उपन्यास के प्रकशित होने की बात करें तो ये उपन्यास 1917 मे प्रकाशित हुआ था और उसके बाद इस उपन्यास की कहानी ने लोगो के दिलों मे अपना घर भी तभी बनाया जब इसपर फिल्मे बनना शुरू हुई।और एक या दो नही बल्कि कई संस्करण बनाये गए।

Is Devdas A Real Story

__Is Devdas A Real Story

4- Devdas की कहानी पर पाकिस्तान मे एक नही बल्कि दो बार बनी फिल्म –

Devdas एक बहुत ही आकर्षित करने वाली कहानी जिससे न सिर्फ india बल्कि और भी देशों मे लोग खूबसूरत आकर्षित हुए और इस श्रेणी मे पाकिस्तान भी आता है जो devdas की जीवित कहानी से इस कदर प्रभावित हुआ की इस कहानी पर दो दो फिल्मे बना डाली पहली फिल्म 1965 मे और दूसरी फिल्म 2005 मे उर्दू भाषा मे बनाई गई।

5- Devdas फिल्म बनने से पहले Bengal के लोग devdas उपन्यास को अलमीरा मे बंद करके रखते थे –

ये एक बहुत ही दिलचस्प किस्सा है की शरत चंद्र चटोपाध्याय द्वारा लिखित उपन्यास मे पारो (पार्वती ), देवदास, चंद्रमुखी और चुन्नीलाल के करैक्टर को बुरे प्रभाव वाले करैक्टर की वजह से अपने परिवार के लड़को या लड़कियो से छुपा कर रखते थे उपन्यास को ताकि इन करैक्टर के गलत प्रभाव से अपने घर के युवाओं को बचाया जा सके।लोग देवदास के पत्रों को इस कदर गिरा हुआ मानते थे की अपने बच्चों का नाम देवदास या चुन्नी लाल या चंद्रमुखी रखने से परहेज़ करते थे ताकि बच्चे शराब, तवायफ और प्रेम जैसी चीज़ो के प्रभाव से दूर रहे।

Is Devdas A Real Story

__Is Devdas A Real Story

6- Devdas के लेखक ने parineeta, nishikriti और Srikanta जैसे प्रशिद्ध उपन्यास भी लिखें है –

Devdas के लेखक जो अपने इस उपन्यास के लिए खूब फेमस हुए है उन्होंने और भी उपन्यास लिखें है जिनमे परिनीति, निष्क्रिति और श्रीकांता भी शामिल है। शरत चंद्र चटोपाध्याय जि के ये लोकप्रिय लेखों मे से कुछ है जिसके लिए इन्हे जाना जाता है।

7- 90 साल मे devdas पर 8 बार बनी फिल्मे –

1917 मे devdas के पब्लिकेशन के बाद से मात्र 90 साल के समय मे 8 बार devdas पर फिल्मे बनी जिन्हे लोगो का खूब प्यार मिला।devdas पर बनने वाली फिल्मे इस प्रकार है –

  • साइलेंट देवदास 1928
  • बाईलिंगवल देवदास 1935
  • तेलुगु और तमिल देवदास 1953
  • दिलीप कुमार वाली देवदास 1955
  • उर्दू देवदास 1965
  • उत्तम कुमार वाली देवदास 1979
  • शक्ति शामन्त की देवदास 2002
  • संजय लीला भंसाली की देवदास 2002

read more

Abhishek Bachchan 5 Upcoming Movies Releasing in 2024-25

Author

    by
  • Taxak

    हैलो दोस्तों,मेरा नाम तक्षक है मै एक प्रोफेशनल बॉलीवुड न्यूज़ ब्लॉगर हूँ मैंने अपनी कार्यशैली को बॉलीवुड के लिए ही समर्पित कर दी है मुझे बॉलीवुड से बहुत प्रेम है मुझे फिल्मे देखना काफी अच्छा लगता है और मै अधिकतर यही कोशिश करता हूँ के फिल्मो को फस्ट डे फ़स्ट शो ही देखूँ मुझे बॉलीवुड से सम्बंधित खबर अपने पाठको तक पहुंचना बहुत पसंद है मेरा यही प्रयास रहता है के सबसे पहले बॉलीवुड की कोई भी छोटी से छोटी खबर हो आप तक पहुँचाना धन्यवाद

Leave a Comment